MGNREGA Yojana Kya Hai, Details in Hndi, मनरेगा योजना से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करें

MGNREGA Yojana Kya Hai, Details in Hndi, मनरेगा योजना से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करें, NREGA Job Card कैसे डाउनलोड करें, नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट देखें @ nrega.nic.in

देश के गरीब परिवारों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए कांग्रेस सरकार द्वारा मनरेगा योजना को शुरू किया गया था लेकिन इसे राष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक राज्य की सरकार द्वारा एवं वर्तमान की भाजपा सरकार ने भी अपनाए रखा है। इस योजना के द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को रोजगार प्रदान किया जाता है। ताकि उन्हें गांव से दूर रोजगार के लिए जाना ना पड़े। देश के सभी राज्यों में संचालित ग्राम पंचायत स्तर पर यह योजना लोगों को बहुत ही सहायता प्रदान कर रही है। मनरेगा योजना के माध्यम से अब तक देश के करोड़ों नागरिकों को लाभ मिल चुका है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मनरेगा योजना से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे जैसे MGNREGA Yojana क्या है?, मनरेगा जॉब कार्ड क्या है?, योजना का उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता आवश्यक दस्तावेज एवं जॉब कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

MGNREGA Yojana

MGNREGA Yojana 2023

मनरेगा योजना को भारत सरकार द्वारा एक रोजगार गारंटी योजना के रूप में लागू किया गया है। इस योजना को विधानसभा में 7 सितंबर 2005 को पारित किया गया है। इसके बाद 200 जिलों में 2 फरवरी 2006 को मनरेगा योजना को शुरू किया गया। MGNREGA Yojana को शुरुआत में राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (नरेगा NREGA) कहा जाता था। लेकिन 2 अक्टूबर 2009 को इसका नाम बदलकर महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम कर दिया गया।

मनरेगा योजना विश्व की एकमात्र ऐसी योजना है जो नागरिकों को 100 दिन के रोजगार की गारंटी देती है। देश के गरीब और बेरोजगार परिवारों को आजीविका के लिए इस योजना का आरंभ किया गया हैं। केंद्र सरकार ने इस योजना के संचालन के लिए वित्तीय वर्ष 2010-11 में 40,100 करोड़ रुपए आवंटित किए थे। इस योजना के माध्यम से कमजोर आय वर्ग के लोगों को उनके ग्राम पंचायत में ही रोजगार उपलब्ध कराया जाता है। जिससे उन्हें पलायन की करने से काफी हद तक रोका जा सकता है। इस योजना के तहत व्यक्ति को रोजगार प्राप्त करने के लिए सर्वप्रथम पंजीयन कराना होता है। पंजीकरण के बाद मनरेगा जॉब कार्ड दिया जाता है। MGNREGA Job कार्ड के माध्यम से कार्ड धारक को 100 दिन का रोजगार प्राप्त करने का अधिकार प्राप्त होता है।

SC Post Matric Scholarship 2023 

मनरेगा योजना 2023 Key Highlights

योजना का नाम MGNREGA Yojana
शुरू की गई भारत सरकार द्वारा
योजना का आरंभ 2 फरवरी 2006
लाभार्थी देश के बेरोजगार नागरिक
उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को निवास स्थान के समीप रोजगार प्रदान करना
लाभ 100 दिन का रोजगार गारंटी
श्रेणी केंद्र सरकार योजना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट https://nrega.nic.in/netnrega/

MGNREGA Yojana का उद्देश्य

भारत सरकार द्वारा मनरेगा योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण नागरिकों को उनके निवास स्थान के समीप ही 100 दिन का रोजगार प्रदान करना है। ताकि ग्रामीणों की आजीविका के आधार को मजबूत कर उनका सामाजिक समावेश सुनिश्चित किया जा सके और साथ ही इस योजना के माध्यम से ग्राम पंचायत स्तर पर रोजगार प्रदान कर अन्य शहरों में होने वाले पलायन को रोकना है। इस योजना के तहत ग्रामीण गरीबों के आजीविका के आधार को मजबूत कर बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाता है। मनरेगा योजना आजीविका को मजबूत और गरीब परिवार की आय में वृद्धि करने के लिए आरंभ की गई है। जिसका मुख्य लक्ष्य समाज के कमजोर वर्ग को मुख्यधारा में सम्मिलित करना है और भारत में पंचायती राज प्रतिष्ठानों को और मजबूती प्रदान करना है।

नरेगा से जुड़ी जानकारी

यूपी नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 

बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

NREGA Job Card List MP

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट राजस्थान

मनरेगा जॉब कार्ड क्या है?

मनरेगा जॉब कार्ड रोजगार प्राप्त करने के लिए प्राथमिक दस्तावेज होता है। जो एक श्रमिक व्यक्ति की पहचान करता है। मनरेगा जॉब कार्ड मनरेगा योजना के तहत स्थानीय ग्राम पंचायत के साथ रजिस्टर्ड होता है। इस जॉब कार्ड में रजिस्टर्ड व्यक्ति का नाम, नरेगा रजिस्ट्रेशन नंबर, घर में आवेदकों की जानकारी इत्यादि दी गई होती है। नरेगा जॉब कार्ड श्रमिक के अधिकारों को दस्तावेजी प्रमाण पत्र के रूप में भी कार्य करता है। ग्रामीण परिवारों के नागरिकों को नरेगा जॉब कार्ड स्थानीय क्षेत्र में ग्राम पंचायत में काम करने के लिए आवेदन की अनुमति देता है और प्रक्रियाओं की पारदर्शिता सुनिश्चित करता है ताकि श्रमिकों के साथ धोखाधड़ी ना हो सके। Narega Job Card का उपयोग आप बैंक खाता खोलने के लिए बैंक और पोस्ट ऑफिस में KYC को पूरा करने के लिए भी किया जा सकता है।

MGNREGA Yojana के प्रावधान

  • मनरेगा योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाले गरीब परिवारों के लोगों को 100 दिन का रोजगार मुहैया कराया जाता है।
  • 14 दिनों तक रोजगार ना मिलने की स्थिति में MNREGA जॉब कार्ड धारकों को बेरोजगारी भत्ता दिए जाने का प्रावधान किया गया है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को उनके निवास स्थान पर समिति रोजगार प्रदान कर पलायन से रोकने का प्रयास किया जाता है।
  • मनरेगा योजना के अंतर्गत कार्य करने वाले श्रमिक नागरिकों को ग्राम पंचायत के माध्यम से जॉब कार्ड जारी किया जाता है।
  • इस योजना के तहत पुरुषों के साथ-साथ महिला वर्ग को भी 1/3 भाग आरक्षण दिए जाने का प्रावधान किया गया है।
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय (Ministry of Rural Development) द्वारा मनरेगा योजना का संचालन किया जाता है।
  • MNREGA के अंतर्गत यदि श्रमिक का कार्य स्थान उसके घर से 5 किलोमीटर की दूरी से अधिक है तो श्रमिक को निर्धारित पारिश्रमिक में से 10 प्रतिशत से अधिक मजदूरी दी जाती है।
  • श्रमिकों के हर दिन की मजदूरी राज्यों के अनुसार अलग-अलग होती है।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण गरीबों की आजीविका के आधार को मजबूत करके ग्रामीण बुनियादी ढांचे का निर्माण करना है।

मनरेगा योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • मनरेगा के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों को रोजगार की उत्पत्ति अकुशल श्रम के लिए प्रत्येक श्रमिकों को 100 दिनों का गारंटी रोजगार दिया जाता है।
  • इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब श्रमिकों को उनके निवास स्थान के समीप ही रोजगार दिया जाता है।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक लाभार्थी को 15 दिन के अंदर जॉब कार्ड जारी किया जाता है जॉब कार्ड मिलने के बाद लाभार्थी को 100 दिनों की रोजगार की गारंटी मिल जाती है।
  • श्रमिकों को उनकी मजदूरी का पैसा सीधे उनके बैंक अकाउंट में भेज दिया जाता है।
  • ग्राम पंचायत स्तर पर रोजगार प्रदान कर इस योजना के माध्यम से अन्य शहरों में होने वाले पलायन को रोकना है।
  • मनरेगा योजना के तहत एक व्यक्ति को 1 वर्ष में केवल 100 दिन का ही काम दिया जाता है और उसे उसी के अनुसार काम के पैसे दिए जाते हैं। नरेगा जॉब कार्ड धारकों को उसके राज्य के अनुसार प्रतिदिन के कार्य का वेतन जाता है।
  • MNREGA योजना के अंतर्गत 1 दिन में एक व्यक्ति से कुल 9 घंटे काम लिया जाता है और उसमें भी उसे 1 घंटे का आराम दिया जाता है। यानी इस योजना के तहत केवल श्रमिक मजदूर से प्रतिदिन कुल 8 घंटे का काम लिया जाता है।
  • धोखाधड़ी से बचने के लिए मनरेगा कार्ड बनवाना अनिवार्य होता है।
  • भारत सरकार द्वारा सभी ऐसे लोगों को मनरेगा कार्ड बनवाया गया है जो इस योजना का लाभ उठाने के इच्छुक है।
  • देश में जो भी काम मजदूरों के होते हैं वह सभी काम मनरेगा योजना के अंतर्गत कराए जाते हैं।
  • कोई भी व्यक्ति चाहे वह किसी भी वर्ग का हो, किसी भी राज्य से संबंध रखता हो, किसी भी जाति या धर्म का हो उन सभी को बराबर मात्रा में इस योजना के तहत काम दिया जाता है।
  • अगर किसी कारणवश मनरेगा के तहत कोई व्यक्ति काम करते हुए घायल हो जाता है या उसे गंभीर क्षति होती है तो उसकी चिकित्सा का सारा खर्च सरकार द्वारा दिया जाता है।
  • इस योजना के माध्यम से देश में विकास में भी उन्नति देखने को मिली है।

MGNREGA Yojana के अंतर्गत कार्य

मनरेगा योजना में संचालित विभिन्न प्रकार के कार्य किए जाते हैं जिनका विवरण निम्न प्रकार है।

  • लघु सिंचाई
  • जल संरक्षण
  • भूमि विकास
  • बाढ़ नियंत्रण
  • गौशाला निर्माण कार्य
  • बागवानी
  • ग्रामीण संपर्क मार्ग निर्माण
  • विभिन्न तरह के आवास निर्माण
  • सूखे की रोकथाम के अंतर्गत वृक्षारोपण
Surakshit Matritva Aashwasan Suman Yojana

नरेगा जॉब कार्ड में शामिल जानकारी

MANREGA या नरेगा जॉब कार्ड लाभार्थी को प्रदान किए जाने वाला एक आवश्यक दस्तावेज होता है जिसमें उसके द्वारा किए गए कार्यों का ब्यौरा दर्ज होता है। जोकि निम्नलिखित है।

  • मनरेगा आवेदक की जानकारी जैसे नाम, पिता का नाम, लिंग, बैंक अकाउंट नंबर/पोस्ट ऑफिस बैंक का अकाउंट नंबर, पता आदि।
  • नौकरी/रोजगार रिकॉर्ड
  • नरेगा जॉब कार्ड धारक का फोटो
  • उपलब्ध रोजगार की जानकारी तारीख को सहित
  • बेरोजगारी भत्ता भुगतान जानकारी (न्यूनतम गारंटी रोजगार उपलब्ध ना होने पर)
  • आपको बता दें कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत जॉब कार्ड धारकों बेरोजगारी भत्ता तब प्रदान किया जाता है। जब श्रमिक को 15 दिनों के बाद भी उसे रोजगार नहीं प्रदान किया गया हो।

MGNREGA Job Card के लिए पात्रता

  • मनरेगा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • ग्रामीण क्षेत्र में निवास कर रहे नागरिक ही इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • ऐसे आवेदक जो अकुशल कार्य करने के लिए तत्पर है इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • राशन कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

NREGA Job Card के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
NREGA Job Card
  • होम पेज पर आपको Gram Panchayat के सेक्शन में Generate Reports के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने सभी राज्यों की सूची आ जाएगी।
MGNREGA Yojana
  • आपको अपने राज्य का चुनाव कर उस पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आपको मांगी गई जानकारी दर्ज करनी होगी। जैसे
  • Financial Year, District, Block, Panchayat आदि का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको Proceed के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने जॉब कार्ड के लिए Registration फॉर्म खुल जाएगा। जिसमें आपको मांगी गई जानकारी जैसे-
  • गांव का नाम, परिवार के मुखिया का नाम, आवेदक का नाम, लिंक, आयु, मकान संख्या, वर्ग और पंजीकरण की तारीख पासपोर्ट साइज फोटो, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करनी होगी।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आपकी मनरेगा जॉब कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।